Saturday, 18 April 2015

यक्ष प्रश्न~ (निरादर का बदला)

यक्ष प्रश्न~

"दिख रही है न ! चाँद सितारों की खूबसूरत दुनिया ?" आकाश में अदिति को टेलेस्कोप से आसमान दिखाते हुये शिक्षक ने कहा |
"जी सर ! कई चमकीले तारें दिख रहे हैं |"
"देखो! जो सात ग्रह पास-पास हैं, वो 'सप्त ऋषि' हैं ! और जो सबसे अधिक चमकदार तारा उत्तर में है, वह है 'ध्रुव-तारा' | जिसने तप करके अपने निरादर का बदला, सर्वोच्च स्थान को पाकर लिया |"
"सर! हम अपने निरादर का बदला कब लें पाएंगे ?
हर क्षेत्र में दबदबा कायम कर चुके हैं, फिर भी ध्रुव क्यों नहीं बने अब तक !" अदिति अपना झुका हुआ सिर उठाते हुये बोली |
शिक्षक का गर्व से उठा सिर सवाल सुनकर अचानक झुक-सा गया ।.....सविता मिश्रा 'अक्षजा'
17/4/2015
https://m.facebook.com/groups/778063565555641?view=permalink&id=1025560104139318

2 comments:

Upasna Siag said...

bahut sahi prshn kiya ....bahut sundar

रचना दीक्षित said...

सचमुच दिल कि गहराइयों से लिखा है