Monday, 19 November 2012

### मिल ही जाता है###

जीना है तो .....
जीने का बहाना
मिल ही जाता है,
डूबते हुए को....
तिनके का सहारा
मिल ही जाता है,
अकेले रहना चाहो तो...
भीड़ में भी अकेले
रहने का ठिकाना
मिल ही जाता है,
ढूढ़ना चाहो तो...
 बेगानों में भी
कोई अपना सा
मिल ही जाता है,
दिल में भक्ति हो तो...
पत्थर में भी भगवान
मिल ही जाता है,
पाना चाहो तो ....
माँ-बाप में ही
चारो धाम
मिल ही जाता है,
विद्वता दिखाना चाहो तो...
मूर्खो का कारंवा
अपने ही आस-पास
मिल ही जाता है,
मिलना हो तो...
 गुदड़ी में भी “लाल”
मिल ही जाता है,
किस्मत अच्छी हो तो ....
वीरानों में भी
कोई गड़ा खजाना
 मिल ही जाता है,
पारखी नजर हो तो....
 कंकड़-पत्थर में भी
“कोहिनूर” हीरा
मिल ही जाता है,
ज्ञान पाने की
 अभिलाषा हो तो....
ज्ञानी क्या
मूर्खो से भी ज्ञान
मिल ही जाता है,
मौत लिखी है यदि
किस्मत में हमारी तो ....
उसे भी
कोई ना कोई बहाना
मिल ही जाता है||..
.सविता मिश्रा


20 comments:

Anonymous said...

Aachary Kashyap
****************
Waah..... Jay ho

Savita Mishra said...
This comment has been removed by the author.
Kishor Kumar Pandey said...

हा हा हा हा हा हा हा हा हा ......... शेर बिलार चुहा गिलहरी कुल पाले अहु का दिदी

Savita Mishra said...
This comment has been removed by the author.
Savita Mishra said...

ha ha ha ha .sab sab mil jayege kishor bhaiya .........

Savita Mishra said...

धन्यवाद आचार्य भैया ...............

अभिषेक कुमार अभी said...

बहुत खूब बातों का उल्लेख किया है आपने दीदी।

vibha rani Shrivastava said...

इसलिए हमारा मिलना हो गया
उम्दा अभिव्यक्ति

सुशील कुमार जोशी said...

सुंदर !

Savita Mishra said...

अभिषेक भाई धन्यवाद आपका

Savita Mishra said...

विभा दी नमस्ते ..सही बात :) हर बात उप्पर वाले की किताब में लिखी है कब होनी हैं
आभार दीदी

Savita Mishra said...

सुशील भैया सादर नमस्ते ......आभार भैया आपका

Ramesh Pandey said...

सुन्दर पंक्तियां, यथार्थ का एहसास कराते हर शब्द, बहुत सुन्दर।

राजेंद्र कुमार said...

बहुत ही सुन्दर रचना,आभार।

Savita Mishra said...
This comment has been removed by the author.
Savita Mishra said...

रमेश भैया आभार आपका

Savita Mishra said...

राजेंद्र भैया शुक्रिया आपका दिल से

Naveen Kr Chourasia said...

sundar , aur sarmay baat kahi sabita jee.

Savita Mishra said...

naveen bhai bahut bahut shkriya aapka

Kailash Sharma said...

वाह..बहुत सार्थक प्रस्तुति...