Tuesday, 24 February 2015

~~बहू बनाम कामवाली ~~


"उम्र हो गयी बेटा , शादी कर ले |"
"अच्छी लड़की तो मिले! तब तो करूँ ना मम्मी !!"
"बेटा ४० की बढती उम्र में अब तुझे अच्छी लड़की कहा मिलेगी | थोड़ा अडजस्ट कर |"
"तो क्या माँ ! आप चाहती है ये टेढ़े मुहं वाली से या ये ऐसा लग रहा है जैसे सदियों से बीमार है , और इस तस्वीर को देखिये -हाथ ऐसे लग रहे जैसे घरों में बर्तन मांजने वाली के | इनमें से किसी एक से शादी कर लूँ ?"
"बुढ़ापे में मुझसे अब होता नहीं| काम वाली भी मिलना मुश्किल है | जो मिलती है वह महीने भर भी नहीं टिकती | कैसे करेगा , क्या खायेगा तेरे भविष्य की चिंता में घुली जा रही हूँ मैं | कब बुलावा आ जाये मेरा, पता नहीं | तेरी देखरेख करेगी , यही समझ कर कर ले !!! "
"तो क्या मम्मी आप बहू नहीं ..|"...सविता मिश्रा

4 comments:

Kailash Sharma said...

हरेक मां के दिल में बेटे के लिए यह चिंता होती है...

Shiv Raj Sharma said...

सुन्दर रचना

Shiv Raj Sharma said...

सुन्दर रचना

Shiv Raj Sharma said...

सुन्दर रचना