Tuesday, 3 February 2015

~~पलटी~~

"पलटी"

"का हो लल्लन, कैसन चलतबा तोहार नेतागिरी |"

(क्या हो लल्लन, कैसी चल रही है तुम्हारी नेतागिरी)

"का बताई भईया, इ जब से मोदी आईगा बा न, रच्चिव क रहाईस नाही बा | भागमभाग बा बिल्कुलय, दिन- रात एक करा, पर एक्कव कौड़ी हाथे नाही लागत| और-ता-और केऊ पहिचनबव नाही करत अब| "

(क्या बताये भैया, ये जब से मोदी आयें हैं, थोडा भी आराम नहीं मिल रहा| भागमभाग हमेशा| दिन रात एक करना पड़ रहा, परन्तु एक भी पैसा हाथ नहीं लग रहा| और छोड़िये, कोई पहचान भी न रहा अब|)


"अरे काहे ?" (अरे क्यों ?)

"का बताई, मोदी के पच्छ में, इ न्यूजवा वाले दौड़ लगावत रहथिन न | गवां रहे एक ठनी के दुआरे वोट मांगय, ससुर का नाती कहेस 'के हए तू, हम ता कमल के देब | खबरवा में देखा हम उ मोदी देश के सुधारी दें, ता तोहके दई का आपन वोट ख़राब काहे करी' | आपन अस मोह लेई क रही गये|"

( "क्या बताये, मोदी के पक्ष में, ये न्यूजचैनेल वाले दौड़ लगाते रहते हैं| एक के घर गए थे वोट मांगने, ससुर का नाती कहा कि "कौन हो तुम? हम तो कमल को देंगे वोट| समाचार में देखा हमने, वह मोदी देश को सुधार देगा| तो फिर तुमको देकर वोट ख़राब काहे करें|

अपना सा मुहँ लेके रह गए हम|")

" 'अरे इसन कहेस उ' वइसे लल्लन इ त सही कहेय तू | चमच बनय , और तलवा चाटय के दौड़ में त आजकल न्यूजवा वाले चितवव से भी तेज हयेन |"

(अरे ऐसा कहा उसने, वैसे लल्लन यह तो सही कहा तुमने| चमचा बनने और तलवा चाटने की दौड़ में आजकल न्यूज वाले चीता से भी तेज दौड़ रहें हैं|" )


"हा भईया गिद्ध नज़र गड़ाये रहथिन ससुरे, हमरे पचन पर| मौका पउतय, मारी देथिन झपट्टा , उघाड़ी देथिन सब हमार छुपा-मुदा| अइसय हाल रहा त हमार नेतागिरी त खतमय समझअ |"

(हां भैया, गिद्ध नज़र गड़ाये रहते है ससुरे, हम सब पर| मौका मिलते ही मार देते है छापा, खोल देतें हैं सब अपना छुपा-मुदा हुआ| ऐसा हाल रहा तो हमारी तो नेतागिरी ख़त्म ही समझिये आप|" )_


"ता आगे अब का सोचय|"
(" तो आगे के लिए अब क्या सोचा हैं ?)

"भईया, का बताई , सोचत हई मारी जाई 'पलटी' ...पंजा छोड़ी पकड़ी लेई कमल |"
("भैया क्या बताये, सोच रहें है पार्टी बदल ही डाले|" ) सविता मिश्रा

4 comments:

Digamber Naswa said...

करार व्यंग है आज के हालात पर ...

सुशील कुमार जोशी said...

हा हा काँग्रेसी जा तो रहे हैं कूद कूद कर । काँग्रेस युक्त भाजपा बनाने के लिये ।

Savita Mishra said...

आभार 🙏

Savita Mishra said...

आभार😊🙏